FeatureIPL

आईपीएल 2018 की मेगा नीलामी के 5 सबसे महंगे प्लेयर्स

Share The Post

आईपीएल 2022 के लिए सभी फ्रेंचाइजी अपनी रिटेंशन लिस्ट जारी कर चुकी हैं। जिसका सीधा मतलब है कि, आगामी सीजन के लिए मेगा नीलामी भी जल्द ही होने वाली है। इस बार यह मेगा नीलामी चार साल बाद हो रही है। आमतौर पर नीलामी में फ्रेंचाइजी प्लेयर्स को ट्रेड करते हुए बड़ी नीलामी खर्च करते हुए दिखाई नही देती हैं लेकिन मेगा नीलामी में यह होना स्वाभाविक बात है क्योंकि सभी फ्रेंचाइजी अपनी टीम तैयार कर रहीं होतीं हैं।

आज जब, आईपीएल 2022 के लिए होने वाली मेगा नीलामी के लिए उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। तब आइये, इस मेगा नीलामी से पहले हुई मेगा नीलामी यानी आईपीएल 2018 की नीलामी के 5 सबसे महंगे प्लेयर्स पर एक नजर डालते हैं।

1.) बेन स्टोक्स:

इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स आईपीएल 2018 के मेगा ऑक्शन की सबसे महंगे प्लेयर्स की इस सूची में सबसे आगे हैं। दिलचस्प यह है कि, स्टोक्स ने आईपीएल 2017 में ही डेब्यू किया था। बावजूद, इसके उन्होंने अगले सीजन इतनी बड़ी रकम हासिल की थी। दरअसल, स्टोक्स आईपीएल 2017 में शानदार फॉर्म में थे, उस सीजन उन्होंने राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की ओर से खेलते हुए 316 रन बनाने के अलावा 12 विकेट भी हासिल किए थे।

Advertisement

यह कड़वा सच है कि, तेज गेंदबाज ऑल राउंडर का मिलना बेहद मुश्किल होता है। खासतौर से स्टोक्स जैसा बेहतरीन ऑल राउंडर कोई भी फ्रेंचाइजी अपने पास रखना चाहेगी। हालांकि, आमतौर पर वैल्यू फॉर मनी क्रिकेटर्स से पीछे जाने वाली फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स ने अपनी मंशा से सभी को हैरान कर दिया। उन्होंने स्टोक्स को 12.5 करोड़ रुपए की बोली लगाते हुए खरीदा था।

2) जयदेव उनादकट:

जयदेव उनादकट ने आईपीएल 2017 में 13.42 की औसत और 7.03 की इकॉनमी से 24 विकेट लिए थे। वह उस सीजन राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के फाइनल में पहुंचने के मुख्य कारणों में से एक थे। उनादकट ने अपनी शानदार गेंदबाजी से लगातार विपक्षी टीम को परेशान किया था। यही कारण है कि,  आईपीएल 2018 की मेगा नीलामी में तमाम फ्रेंचाइजी उनके लिए ट्रेड करती हुई दिखाई दे रहीं थीं।

हाल के वर्षों में भारत में बाएं हाथ के क्वालिटी तेज गेंदबाजों की न्यूनता रही है। उनादकट ने बाएं हाथ के गेंदबाज के रूप में किसी भी टीम के गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया था। यही कारण है कि, राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें 11.5 करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि देकर खरीदा था।

Advertisement

3) मनीष पांडे:

डेविड वॉर्नर की कप्तानी में आईपीएल 2016 का खिताब जीतने के बाद सनराइजर्स हैदराबाद के हौसले सातवें आसमान पर थे। लेकिन, आईपीएल 2017 में हैदराबाद प्ले ऑफ में पहुंचने में सफल रही किन्तु फाइनल का सफर नही तय कर सकी थी। इसलिए, फ्रेंचाइजी ने मेगा ऑक्शन का लाभ उठाते हुए एक मजबूत टीम बनाने का निश्चय किया था।

चूंकि, आईपीएल 2017 के कुछ मैंचोंन में हैदराबाद कयाय मिडिल ऑर्डर फेल हुआ था। इसलिए, मध्यक्रम को ध्यान में रखते हुए मनीष पांडे को टारगेट किया था। मनीष लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और दबाव में अपनी पारी के लिए रन बनाने के लिए लोकप्रिय भी थे। वह उस समय टीम इंडिया का भी हिस्सा थे। इसलिए, सनराइजर्स हैदराबाद ने मनीष पांडे को 11 करोड़ रुपए की बोली लगाकर अपनी टीम में शामिल किया था।

4.) केएल राहुल:

केएल राहुल को शुरू में टेस्ट विशेषज्ञ माना जाता था। लेकिन, आईपीएल 2016 में उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए अच्छा प्रदर्शन किया और टीम को फाइनल में पहुंचने में मदद की। इस प्रदर्शन के बल पर केएल राहुल ने जल्द ही भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों की टीम में भी जगह बना ली और वहाँ लगातार शानदार प्रदर्शन करते रहे।

Advertisement

हालांकि, वह आईपीएल 2017 नही खेल सके थे। लेकिन, राहुल अब भी एक बेहतरीन प्लेयर के रूप में टीम इंडिया के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करते जा रहे थे। चूंकि, राहुल शानदार सलामी बल्लेबाज होने के साथ ही विकेटकीपर भी हैं और पंजाब किंग्स टॉप ऑर्डर के लिए एक ऐसे ही प्लेयर की तलाश में थी। इसलिए, उन्होंने केएल राहुल को 11 करोड़ रुपए के साथ फ्रेंचाइजी में शामिल किया था।

5.) क्रिस लिन:

आईपीएल 2018 की मेगा नीलामी के सबसे महंगे प्लेयर्स की इस सूची में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज क्रिस लिन नंबर 5 पर हैं।कोलकाता नाइट राइडर्स अपने खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए जाने जाते हैं। इस बार, उन्होंने अपने पुराने प्लेयर क्रिस लीन को वापस टीम में शामिल करने के लिए 9.6 करोड़ की राशि खर्च की थी।

यह भी पढ़ें: आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन से पहले टीमों के 3 चौंकाने वाले फैसले।

ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज क्रिस लिन को मेगा ऑक्शन में इतनी बड़ी कीमत मिलना आश्चर्य की बात थी। क्योंकि, उन्होंने किसी भी सीजन 300 से अधिक रन नही बनाए थे। लेकिन, लिन अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी और बड़ी हीटिंग के कौशल का प्रदर्शन कर चुके थे। इसलिए, ही शायद कोलकाता नाइट राइडर्स ने उनके लिए बड़ी कीमत खर्च करने का फैसला किया था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button