FeatureNewsSocial

जानिए, शार्दुल ठाकुर को क्यों कहा जाता है लॉर्ड…

Share The Post

भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होने के बाद से ही शार्दुल ठाकुर एक शानदार ऑल राउंडर बनकर सामने आए हैं। शार्दुल ने न केवल गेंदबाजी बल्कि बल्लेबाजी में भी आक्रमकता दिखाई है। जो कि, यह दर्शाता है कि इस खिलाड़ी के पास न केवल एक बेहतरीन शैली है बल्कि परिस्थितियों के अनुकूल ढलने की क्षमता भी है।

शार्दुल ठाकुर ने अब तक जिस तरह से गेंद और बल्ले से कमाल दिखाया है उससे उनके फैन बेस में काफी वृद्धि हुई है। यहाँ तक कि उनके फैंस उन्हें लॉर्ड कहकर पुकारने लगे हैं। चूंकि, शार्दुल टीम इंडिया की गेंदबाजी और बल्लेबाजी के नए लॉर्ड हैं। इसलिए आइये जानते हैं कि आखिर उन्हें लॉर्ड क्यों कहा जाता है।

वास्तव में, भारतीय टीम को लंबे समय से एक तेज गेंदबाज ऑल राउंडर की तलाश रही है। क्योंकि स्पिन में रविन्द्र जड़ेजा और अश्विन जैसे ऑल राउंडर विकल्प टीम इंडिया के पास अरसे से उपलब्ध हैं। हालांकि तेज गेंदबाज-ऑल राउंडर की कमी को हार्दिक पांड्या ने कुछ समय के लिए पूरा किया था। लेकिन चोट के कारण वे गेंदबाजी नही कर पा रहे हैं।

Advertisement

हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति ने शार्दुल ठाकुर के लिए टीम इंडिया के दरवाजे खोलने का काम किया है। गाबा टेस्ट हो या फिर ओवल टेस्ट दोनों ही जगहों पर शार्दुल ने खुद के ‘लॉर्ड’ होने का परिचय दिया है।

शार्दुल ठाकुर अपने शानदार प्रदर्शन से हर बार प्लेइंग इलेवन के लिए मजबूत दावेदारी करते दिखाई दिए हैं। जब वह मैदान पर होते हैं तब अपने खेल से प्रत्येक क्रिकेट प्रशंसक को प्रभावित करते हैं। उनकी, इसी प्रभावशाली छवि के कारण सोशल मीडिया पर उन्हें ‘लॉर्ड’ बताते हुए मीम्स बनाए जाते हैं।

हालांकि, यह सब पहले नही था लेकिन लगातार बेहतरीन प्रदर्शन के बाद फैंस ने उन्हें ‘लॉर्ड’ बताना शुरू कर दिया। यहाँ तक कि वीरेंद्र सहवाग, वसीम जाफर, आकाश चोपड़ा जैसे पूर्व खिलाड़ियों ने भी शार्दुल के लिए कई बार लॉर्ड शब्द का उपयोग किया है।

Advertisement

गौरतलब है कि, गाबा टेस्ट में जब पूरी टीम ‘तू चल मैं आया’ के रास्ते पर चल रही थी और पूरा बल्लेबाजी क्रम बिखर चुका था। तब, शार्दुल ने बहुमुल्य 67 रन बनाए और चार विकेट भी लिए जिसने पूरे मैच का रुख ही बदल दिया। इसके अलावा ओवल टेस्ट की दोनों पारियों में उनके अर्धशतक ने भी उनकी ‘लॉर्ड’ वाली छवि में सुधार किया।

इससे पहले इंग्लैंड के विरुद्ध हुई सीरीज में भी शार्दुल ठाकुर ने लगातार विकेट लेकर भारतीय टीम को संकट से निकाला था। जिसके बाद उनकी छवि एक सुपर हीरो की तरह हो गई थी और फिर लोगों ने उन्हें लॉर्ड कहना शुरू कर दिया।

 

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button