IPLNews

शुभमन गिल की बल्लेबाजी को लेकर वीरेंद्र सहवाग ने दिया बड़ा बयान

Share The Post

इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में कल रात दो नई टीमें आमने सामने थीं। दरअसल, आईपीएल 2022 के चौथे मैच में गुजरात टाइटंस का मुकाबला लखनऊ सुपर जॉइंट्स से था। जहाँ, बेहद ही रोमांचक मुकाबले में गुजरात टाइटंस ने जीत दर्ज करते हुए शानदार शुरुआत की है। इस मैच के बाद, पूर्व भारतीय ओपनर और महान विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने गुजरात टाइटंस के ओपनर शुभमन गिल की बल्लेबाजी को लेकर बड़ा बयान दिया है।

दरअसल, इस मैच में लखनऊ ने गुजरात के सामने 159 रनों का टारगेट सेट किया था। जिसके बाद इस लक्ष्य का पीछा करते हुए शुभमन गिल ने पारी की शुरुआत करते हुए तेजतर्रार शॉट खेला और महज तीन गेंद खेलकर बिना खाता खोले आउट होकर पवेलियन लौट गए।

उल्लेखनीय है कि, हाल ही में शुभमन गिल ने एक बातचीत में कहा था कि उन्होंने कुछ नए शॉट सीखे हैं। जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि, शुभमन गिल को कुछ भी नया करने की जरूरत नहीं है। वह अपना स्वाभाविक खेल खेलेंगे तो अधिक सफल हो सकते हैं।

Advertisement

वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि, “मुझे लगता है कि शुभमन गिल वनडे क्रिकेट के प्लेयर हैं। क्योंकि टी20 क्रिकेट में, वे खिलाड़ी ही सफल होते हैं जो पावरप्ले में जब चाहें तब बाउंड्री मार सकते हैं, यही उन्हें काम करने की जरूरत है। शुभमन ने कहा था कि वे कुछ नए शॉट्स सीख रहे हैं जबकि उन्हें इसकी जरूरत नहीं है। वह अभी जैसा खेल रहे हैं यदि वैसा ही खेलते रहेंगे तो ज्यादा अच्छा कर सकते हैं।”

सहवाग ने भारतीय क्रिकेट और आईपीएल के कुछ बेहतरीन ओपनर्स का उदाहरण देते हुए बताया है कि वे कैसे पिच पर समय बिताकर अपना स्ट्राइक रेट सुधार सकते हैं।

वीरेंद्र सहवाग ने अपना उदहारण देते हुए दिया बयान

सहवाग ने कहा है कि, “शुभमन गिल को यह नहीं भूलना चाहिए कि जब टी20 क्रिकेट आता है, तो वह या तो बहुत तेज या बहुत धीमा खेलते हैं। पिछले साल, उसका स्ट्राइक रेट 120 था इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें इसे बढ़ाने का काम करना चाहिए। इस साल, मुझे उम्मीद है कि वह 150 के आसपास के स्ट्राइक रेट तक पहुंचगे। वास्तव में, सामान्य रूप से खेलते हुए स्ट्राइक रेट में सुधार किया जा सकता है। जैसा कि आयुष बदोनी ने किया है।”

Advertisement

इस बातचीत को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने यह भी कहा है कि, ”गिल को थोड़ा रुककर खेलने की जरूरत है। वह 25-30 रन बनाते हैं और आउट हो जाते हैं। 60, 70 या 80 तक पहुंचने के बाद स्ट्राइक रेट अपने आप बढ़ जाएगा। तभी आप स्वतंत्र रूप से खेल सकते हैं। क्या सचिन तेंदुलकर ने, मैंने या फिर गौतम गंभीर ने शुरुआत से ही तेज शॉट खेले हैं? इसलिए ही मैं कह रहा हूँ कि सामान्य रूप से खेलते हुए खेल को आगे बढाया जा सकता है।’

 

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button