IPLNews

आईपीएल 2022 में रहेगा बॉलर्स का दबदबा या बल्लेबाजों को मिलेगी कामयाबी, जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

Share The Post

इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें संस्करण यानी आईपीएल 2022 में अब तक कुल 10 मैच खेले गए हैं। इन 10 मैचों के परिणाम देखने के बाद कई बातें सामने आयीं हैं। अव्वल तो यह कि, इस आईपीएल में टॉस जीतने वाले सभी टीमें पहले क्षेत्ररक्षण यानी फील्डिंग का फैसला करते हुए प्रतिद्वंद्वी को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित करती हुई दिखाई दीं हैं।

इसके अलावा, एक और तथ्य जिस पर सभी का ध्यान गया होगा कि आईपीएल 2022 में अब तक टारगेट चेज़ करने वाली टीमों को अधिक सफलता मिली है। यानी जिसने टॉस जीता है उसे अधिक जीत मिली है। आंकड़ों पर नजर डालें तो अब तक खेले गए 10 में से 7 मैचों में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमों को ही जीत मिली है।

यदि इस तथ्य पर आगे बात करें तो यह स्पष्ट होता है कि, राजस्थान रॉयल्स दो बार और गुजरात टाइटंस एक बार रनों का बचाव करने में सफल हुई है। बहरहाल, जबकि क्रिकेट में यह कहा जाता है कि बैटर मैच जिताते हैं और बॉलर्स टूर्नामेंट तब आईपीएल 2022 के एक और रोचक आंकड़े पर नजर डालते हैं।

Advertisement

अब तक 6 बार गेंदबाज बने मैन ऑफ द मैच

दरअसल, इंडियन प्रीमियर लीग के इस संस्करण में खेले गए 10 में से 6 मैचों में गेंदबाज मैन ऑफ द मैच रहे हैं। यदि पहले मैच की बात करें तो चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच हुए मुकाबले में उमेश यादव, मुंबई और दिल्ली कैपिटल्स के बीच हुए मुकाबले में कुलदीप यादव, बैंगलोर और पंजाब किंग्स के बीच हुए हाई स्कोरिंग मुकाबले में ओडीन स्मिथ मैन आफ द मैच थे।

आगे बढ़ते हुए इसी क्रम में नजर डालें तो, लखनऊ सुपर जायंट्स और गुजरात टाइटंस के बीच हुए मैच में मोहम्मद शमी, राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच हुए मुकाबले में संजू सैमसन, बैंगलोर और कोलकाता के बीच हुए मुकाबले में वानिन्दू हसरंगा, चेन्नई सुपर किंग्स और लखनऊ के बीच हुए मुकाबले में एविन लुईसमैन आफ द मैच थे।

इसी प्रकार आगे बढ़ें तो, पंजाब किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच हुए मुकाबले में एक बार फिर उमेश यादव मैन ऑफ द मैच थे। राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के बीच हुए मुकाबले में जोस बटलर और अंत मे यानी 10वें मैच की बात करें तो गुजरात टाइटंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच हुए मुकाबले में लौकी फर्ग्युसन मैन आफ द मैच थे।

Advertisement

इन तमाम आंकड़ों को देखने के बाद क्रिकेट फैंस के मन में यह सवाल चल रहा होगा कि आखिर यह परिणाम कैसे सामने आ रहे हैं। क्या वास्तव में, इंडियन प्रीमियर लीग 2022 में गेंदबाजों का ही दबदबा रहने वाला है या फिर ये परिणाम बाद में बदलते हुए दिखाई देंगे।

आईपीएल 2022 में पिच फैक्टर रहा है प्रभावी

दरअसल, यह तो सभी जानते हैं कि आईपीएल 2022 में अब तक जितने भी मैच हुए हैं वे मुंबई और पुणे में हुए हैं। एक ओर जहाँ मुंबई में हो रहे मैचों में ओस प्रभावी होती है तो वहीं पुणे में हो रहे मैचों में ओस का कोई प्रभाव नहीं होता है। हालांकि, इन सबके अलावा, पिच का भी प्रभाव पड़ रहा है एक।ओर जहां मुंबई में लाल मिट्टी की पिचें हैं तो वहीं पुणे में काली मिट्टी की पिच यानी दोनों ही जगह गेंदबाजों के लिए भरपूर मदद होती है। इसी कारण अब तक के मैच विनर बॉलर ही रहे हैं।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button