FeatureNews

विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु यदि टेस्ट क्रिकेट खेले तो प्लेइंग इलेवन क्या होगी?

Share The Post

टेस्ट मैच, क्रिकेट इतिहास का सबसे पुराना फॉर्मेट है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में फटाफट क्रिकेट यानि टी-20 आ जाने के बाद ऐसा लगा था कि टेस्ट मैचों की लोकप्रियता शून्य हो जाएगी लेकिन बीते कुछ वर्षों में आईसीसी के प्रयासों और टेस्ट मैच में चौथे-पांचवें दिन के रोमांच ने इसकी लोकप्रियता में चार चांद लगाने का काम किया है।

एक टेस्ट टीम को पांच दिन तक निरंतर धैर्य, हिम्मत, समर्पण और बेहतरीन फिटनेस की आवश्यकता होती है तभी वह मैच में बनी रह सकती है। दूसरी ओर टी-20 क्रिकेट में कुछ घण्टों का ही खेल होता है ऐसे में यहाँ सब कुछ अप्रत्याशित होता है और एक अच्छा ओवर पूरे मैच का रुख बदल देता है।

क्या आप यह विचार कर सकते हैं कि, आईपीएल खेलने वाली कोई टीम जैसे रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) टेस्ट क्रिकेट खेले। यदि, हां तो यह बेहद ही रोमांचक हो सकता है क्योंकि विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, डेनियल विटोरी, राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गज एक ही टीम के लिए पांच दिवसीय मैच खेलते हुए नजर आएंगे। आइये इस विषय को आगे बढ़ाते हुए यह देखते हैं कि यदि सच में आरसीबी एक टेस्ट मैच खेलती है तो उसकी प्लेइंग इलेवन क्या होगी…

Advertisement

सलामी बल्लेबाज: के एल राहुल और चेतेश्वर पुजारा

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज के एल राहुल का रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के लिए एक टेस्ट मैच में ओपनिंग करना बड़ा ही बेहतरीन हो सकता है। के एल राहुल, युवा होने के साथ ही बेहद प्रतिभाशाली और प्रभावशील बल्लेबाज हैं। बहुमुखी प्रतिभा के धनी इस बल्लेबाज ने अब तक 37 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें 35 से अधिक की औसत से 2126 रन बनाए हैं जिसमें 5 शतक और 12 अर्ध शतक शामिल है।

चेतेश्वर पुजारा भारतीय टेस्ट क्रिकेट के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी हैं। एक छोर को सम्हालने और गेंदबाजों को लगातार थकाने वाले पुजारा की शैली वास्तविक टेस्ट शैली है। चेतेश्वर पुजारा ने 87 टेस्ट मैचों में 45 से अधिक की औसत से 6283 रन बनाए हैं। इसमें 18 शतक और 29 अर्ध शतक शामिल है।

मध्यक्रम: विराट कोहली, राहुल द्रविड़ और एबी डिविलियर्स

भारतीय टीम के कप्तान और वर्तमान समय के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज विराट कोहली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टेस्ट टीम की अगुवाई करेंगे। विराट कोहली की प्रतिभा और उनका फेम इस बात का प्रमाण है कि वह एक महान खिलाड़ी हैं। लगातार 5 टेस्ट मैच जीतने वाले विराट कोहली ने 93 टेस्ट मैचों में 27 शतक और 25 अर्ध शतक के साथ 7547 रन बनाए हैं।

Advertisement

‘द वाल’ के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ टेस्ट क्रिकेट में हर किसी की पहली पसंद हो सकते हैं। सपाट विकेट हो या फिर स्पिन ट्रैक हर गेंदबाजी आक्रमण के विरुद्ध दीवार बनकर खड़े रहने वाले राहुल द्रविड़ उन दिग्गज खिलाड़ियों में से एक हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम को वास्तविक पहचान दिलाई है। 164 टेस्ट मैचों में 13 हजार से अधिक रन बनाने वाले द्रविड़ ने भारतीय टीम के लिए सर्वस्व समपर्ण किया है। द्रविड़ के टेस्ट करियर में 36 शतक और 63 अर्ध शतक शामिल हैं।

क्रिकेट के मिस्टर 360 कहे जाने एबी डीविलियर्स निःसन्देह सर्वोत्तम बल्लेबाज हैं। इस खिलाड़ी के पास धैर्य के साथ-साथ इनोवेटिव शॉट्स खेलने की भी क्षमता है जो इन्हें महान बनाती है। डिविलियर्स ने 114 टेस्ट मैचों में 8765 रन बनाए हैं जिसमें 22 शतक और 46 अर्धशतक शामिल हैं।

ऑल राउंडर: जैक कैलिस

विश्व क्रिकेट के महान ऑल राउंडर जैक कैलिस खेल के दोनों पहलुओं, बल्लेबाजी और गेंदबाजी में माहिर हैं। जैक कैलिस के आंकड़े बताते हैं कि उन्होंने 166 टेस्ट मैच खेले हैं इस दौरान उन्होंने 55.37 की शानदार औसत से 13289 रन बनाए हैं जिसमें 45 शतक और 58 अर्धशतक शामिल हैं। इसके अलावा, गेंदबाजी की बात करें तो इन महान खिलाड़ी ने टेस्ट क्रिकेट में 292 विकेट भी हासिल किए हैं। कैलिस के हरफनमौला प्रदर्शन को देखते हुए कोई भी टीम इन्हें बतौर ऑल राउंडर अपनी टीम में शामिल करना चाहेगी।

Advertisement

स्पिनर- अनिल कुंबले और डेनियल विटोरी

भारतीय टीम के कप्तान रहे दिग्गज खिलाड़ी अनिल कुंबले ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाया है। एक पारी में 10 विकेट लेने वाले गेंदबाज कुंबले विश्व क्रिकेट के महानतम स्पिनर्स में से एक हैं। कुंबले ने 132 टेस्ट मैचों में 619 विकेट लिए हैं, जिसमें 35 बार पांच विकेट भी शामिल हैं। वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में चौथे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

तेज गेंदबाज: डेल स्टेन, उमेश यादव, जहीर खान

दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज डेल स्टेन का नाम घातक गेंदबाजों की सूची में शामिल किया जाता है। तेज गति और स्विंग ने उन्हें एक ऐसा गेंदबाज बना दिया था जो कि बल्लेबाज़ों के लिए किसी बुरे स्वप्न से कम नही था। टेस्ट क्रिकेट में 2343 दिनों तक अपनी बादशाहत कायम रखने वाले स्टेन ने 93 टेस्ट मैचों में महज 22.9 की औसत से 439 विकेट अपने नाम किए हैं।

उमेश यादव की बात करें तो, उनकी तेज गेंदबाजी और लंबे-लंबे स्पैल फेंकने की क्षमता का कोई सानी नही है। उमेश यादव ने 44 टेस्ट मैचों में 148 विकेट हासिल किए हैं। भारतीय उपमहाद्वीप और विदेशी परिस्थितियों में भी शानदार गेंदबाजी कर उमेश यादव ने दर्शाया है कि वह एक घातक गेंदबाज हैं।

Advertisement

भारत के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों की सूची में अपना नाम शामिल कराने वाले जहीर खान का बॉलिंग एक्शन और उनका आक्रामक रवैया टीम के अन्य गेंदबाजों की गेंदबाजी को भी प्रभावित करता है। जहीर से प्रभावित हो अन्य गेंदबाज भी आक्रामक शैली में गेंदबाजी के लिए प्रेरित होते थे। जहीर खान ने 92 टेस्ट मैचों में 32.94 की औसत से 311 विकेट लिए हैं और वह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए शानदार गेंदबाजी कर सकते हैं।

विराट कोहली की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू की प्रभावशाली और मजबूत प्लेइंग इलेवन इस प्रकार हो सकती है: के एल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), राहुल द्रविड़, एबी डिविलियर्स (विकेटकीपर), जैक कैलिस, अनिल कुंबले, डेनियल विटोरी, डेल स्टेन, उमेश यादव और जहीर खान

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button