Feature

कोलकाता नाइट राइडर्स यदि टेस्ट क्रिकेट खेले तो क्या होगी उनकी सबसे मजबूत XI?

Share The Post

इंडियन प्रीमियर लीग यानि आईपीएल (IPL) की तीसरी सबसे सफल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) दो बार खिताब जीत चुकी है। हालांकि आईपीएल 2021 के पहले चरण में कोलकाता नाइट राइडर्स को लगातार हार का सामना करना पड़ा था और वह एक ख़राब दौर से गुजर रही है लेकिन इस टीम में अब भी इतना दम-खम है कि यह वापसी कर सकती है।

कोलकाता नाइट राइडर्स के पास एक से एक ऐसे धुरंधर खिलाड़ी हैं जो किसी भी परिस्थिति में खेल को अपने पक्ष में करना जानते हैं। केकेआर के खिलाड़ी टी-20 क्रिकेट के अलावा यदि एकदिवसीय या टेस्ट मैच खेलने उतरें तो भी उनसे बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद की जाएगी।

केकेआर के इतिहास में कई जबरदस्त खिलाड़ी खेले, जो टेस्ट फॉर्मेट में भी अच्छा करने का दमखम रखते थे और मौजूदा समय में भी कई ऐसे खिलाड़ी हैं। एक नजर डालते हैं, यदि केकेआर वास्तव में टेस्ट मैच खेलने उतरती है तो उसकी सबसे मजबूत प्लेइंग इलेवन क्या होगी।

Advertisement

कोलकाता नाइट राइडर्स की सबसे मजबूत टेस्ट XI

सलामी बल्लेबाज: गौतम गंभीर और शुभमन गिल

कोलकाता नाइट राइडर्स की गिनती यदि आईपीएल की सफल टीमों में होती है तो इसका बड़ा कारण हैं गौतम गंभीर, जिनकी कप्तानी में केकेआर ने साल 2012 और 2014 में ट्रॉफी अपने नाम की थी।

कोलकाता नाइट राइडर्स की टेस्ट टीम में गौतम गंभीर बतौर सलामी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। हालांकि गंभीर का टेस्ट करियर 58 मैचों तक ही सीमित था लेकिन इस दौरान उन्होंने 41.95 की शानदार औसत से 4158 बनाए हैं। यानि कि केकेआर की टेस्ट टीम के लिए गंभीर एक बेहतरीन सलामी बल्लेबाज हो सकते हैं।

गौतम गंभीर के साथ शुभमन गिल दूसरे छोर से पारी की शुरुआत कर सकते हैं। पंजाब के इस युवा बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेली गई सीरीज में यह दिखाया है कि उनमें उत्कृष्ट प्रदर्शन करने की न केवल क्षमता है बल्कि वह तकनीकी रूप से भी सक्षम हैं। टी-20 में अपना कमाल दिखा चुके शुभमन गिल टेस्ट फॉर्मेट में भी अच्छा खेल दिखा सकते हैं।

Advertisement

कोलकाता नाइट राइडर्स का मध्यक्रम: चेतेश्वर पुजारा, सौरव गांगुली (कप्तान), ब्रेंडन मैकुलम और ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर)

अपने आईपीएल करियर की कोलकाता नाइट राइडर्स से शुरुआत करने वाले चेतेश्वर पुजारा को बतौर टेस्ट क्रिकेटर ही देखा जाता है। टेस्ट क्रिकेट के लिए वर्तमान स्थिति में चेतेश्वर पुजारा से बेहतर कोई अन्य खिलाड़ी किसी भी देश के पास नही है। हालांकि वह रन गति में काफी पीछे रहते हैं लेकिन पिच पर किसी भी गेंदबाजी आक्रमण के विरुद्ध लंबे समय तक डटे रहना ही इस खिलाड़ी की पहचान है।

चेतेश्वर पुजारा के अतिरिक्त दादा यानि सौरव गांगुली और ब्रेंडन मैकुलम मध्यक्रम में कोलकाता नाइट राइडर्स को अच्छा सपोर्ट कर सकते हैं। दोनों ही खिलाड़ियों ने केकेआर की कप्तानी की है और लंबे समय तक टेस्ट क्रिकेट खेला है और जिसमें अपनी धाक भी जमाई है।

ऋद्धिमान साहा, कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज खेल सकते हैं, हालांकि वे केकेआर में लंबे समय तक नही रहे लेकिन उनका आईपीएल और टेस्ट मैचों में प्रदर्शन शानदार रहा है।

Advertisement

ऑलराउंडर: जैक कैलिस

कोई भी टीम जैक कैलिस जैसा ऑलराउंडर अपनी प्लेइंग इलेवन में रखना चाहेगी। टेस्ट क्रिकेट में 13 हजार से अधिक रनों के साथ 292 विकेट लेने वाले कैलिस टेस्ट क्रिकेट के महान ऑलराउंडर्स में से एक हैं। इसलिए केकेआर के लिए जैक्स कैलिस से बेहतर कोई और ऑलराउंडर नही हो सकता।

गेंदबाज: ब्रेट ली, इशांत शर्मा हरभजन सिंह और पैट कमिंस

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ब्रेट ली का नाम याद आते ही सबसे पहले दिखाई देती है उनकी तेजतर्रार और धारदार गेंदबाजी जिसके बल पर उन्होंने विश्व क्रिकेट में न केवल अपना बल्कि अपने देश का नाम भी रोशन किया है। 76 टेस्ट मैचों में 310 विकेट लेने वाले ब्रेट की केकेआर की गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करने वाले खिलाड़ी होंगे।

इशांत शर्मा का टेस्ट क्रिकेट में जलवा बरकरार है, लंबे कद के इस भारतीय खिलाड़ी ने 104 मैचों में 32.2 की औसत से 311 विकेट अपने नाम किए हैं।

Advertisement

ब्रेट ली और इशांत के साथ पैट कमिंस यदि किसी टीम में हों तो वह सबसे मजबूत कही जानी चाहिए। यह तिकड़ी किसी भी बल्लेबाजी क्रम के विरुद्ध लगातार स्पैल करने और विकेट हासिल करने में माहिर है।

हरभजन सिंह  केकेआर के लिए नए हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने जो कमाल किया है वह हर किसी की याददाश्त में बना हुआ है। 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लेने वाले हरभजन सिंह के नाम 2 टेस्ट शतक भी हैं ऐसे में केकेआर की बॉलिंग लाइन अप में होने के साथ ही वह बल्लेबाजी में भी अच्छे हाथ दिखा सकते हैं।

टेस्ट क्रिकेट में कोलकाता नाइट राइडर्स की सबसे मजबूत XI इस प्रकार होगी:

गौतम गंभीर, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, सौरव गांगुली (कप्तान), ब्रेंडन मैकुलम, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), जैक कैलिस, ब्रेट ली, ईशांत शर्मा, पैट कमिंस और हरभजन सिंह।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button