News

रवि शास्त्री ने सौरव गांगुली के साथ अपने मतभेदों को लेकर तोड़ी चुप्पी

Share The Post

रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), दोनों ही भारतीय क्रिकेट के साथ काफ़ी अरसे से जुड़े हुए हैं। अगर एक की कप्तानी के लाखों प्रशंसक हैं तो दूजे की लाजवाब कमेंट्री ने भी कईयों को अपना कायल बनाया है। अगर मौजूदा समय की बात करें तो जहां एक ओर रवि शास्त्री भारतीय पुरुष टीम के कोच हैं तो वहीं सौरव गांगुली बीसीआई अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं। ये दोनों अक्सर ही अपने खट्टे-मीठे रिश्ते के कारण सुर्खियों में बने रहते हैं पर उन पर अपनी प्रतिक्रिया कभी खुलकर नहीं देते।

ग़ौरतलब है कि हाल ही में टाइम्स नेटवर्क समूह की संपादक, नविका कुमार, रवि शास्त्री से उनके और सौरव गांगुली के खट्टे-मीठे रिश्ते पर बात करती नज़र आईं। उन्होंने उस मशहूर बस घटना को लेकर भी उनसे चर्चा की, जिसमें कि देर से आने की वजह से उन्होंने गांगुली को बस में चढ़ने नहीं दिया था, आखिरकार रवि शास्त्री ने उस विषय पर खुल कर बात की।

जानिये रवि शास्त्री ने अपने और सौरव गांगुली को लेकर क्या कहा

जब उनसे उस घटना के विषय में पूछा गया तो उन्होंने कहा,

Advertisement

“अगर कोई बस पकड़ने के लिए देर से आता है तो ज़ाहिर सी बात है कि बस निकल ही जाएगी, फिर चाहे आप जो कोई भी हों! और उस दिन सौरव के साथ ऐसा हुआ। “

आगे शास्त्री से आगे पूछा गया कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड का प्रमुख बनने के बाद भी क्या गांगुली के मन में उनके लिए कोई बैर है। इसके उत्तर में रवि शास्त्री ने कहा,

“बिल्कुल नहीं। मैंने तो उनसे मिलकर बात भी की जब वो यहाँ (इंग्लैंड) आए थे। मैंने उन्हें क्रिकेट खेलता देखा है। यहाँ तक कि हम एक टीम से भी खेले हैं। तब मैं टाटा स्टील टीम का कप्तान था और वो मेरे नेतृत्व में खेल रहे थे। हम काफी आगे बढ़ चुके हैं।”

Advertisement

“वैसे भी मीडिया को ये कहानियाँ भेलपुरी और चाट जैसी लगती हैं और वो इनमें अपने मनोरंजन के हिसाब से मसाला ढूंढने लगते हैं।”

Advertisement

सौरव गांगुली का उस घटना को लेकर क्या कहना है

यह ‘मशहूर’ बस घटना साल 2007 की है जब गांगुली भारतीय टीम में एक सक्रिय खिलाड़ी और शास्त्री उस टीम के मैनेजर हुआ करते थे। जब इस विषय पर सौरव से पूछा गया तो उन्होंने साफ इनकार कर दिया और कहा कि ऐसी कोई घटना कभी हुई ही नहीं। उन्होंने तो मज़ाक में ये तक कहा कि रवि शास्त्री से सुबह में कोई इंटरव्यू ना लें। उन्होंने कहा,

“आप उनका (रवि शास्त्री) इंटरव्यू सुबह के समय ले ही नहीं सकते। आप उन्हें अपने सुबह के शो पर मत बुलाइए क्योंकि बाद में उन्हें याद ही नहीं रहता कि उन्होंने क्या कहा। अगर मैं उनसे मिला तो, आपके कही बातों को ज़रूर पूछूँगा, क्योंकि ऐसा कुछ हुआ ही नहीं। पता नहीं उन्हें ये कहाँ से मिला।”

सौरव ने फिर कहा,

Advertisement

“लेकिन आप उन्हें सुबह के शो पर बिल्कुल मत बुलाइए। चाहे तो शाम को बुला लीजिए। वो बातों को अच्छी तरह से याद कर पाएँगे।”

Advertisement
Advertisement


Share The Post

Utkarsh Mishra

Utkarsh Mishra is a professional content writer in sports domain and currently works as the Editor in Chief of Cricket Ki Baat.

Related Articles

Back to top button