FeatureStats

वो 3 भारतीय प्लेयर्स जिन्होंने टी20 क्रिकेट में झटके हैं सबसे अधिक विकेट

Share The Post

जब भारत में क्रिकेटरों की बात आती है, तो यह स्पष्ट हो जाता है कि प्लेयर्स को फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलने के लिए देश से बाहर खेलने की अनुमति नहीं है। इसलिए, आंकड़ों के हिसाब से देखें तो भारतीय प्लेयर्स के पास टी20 क्रिकेट खेलने के अपेक्षाकृत कम मौके होते हैं। कुल मिलाकर देखें तो यहां खिलाड़ियों के पास टी20 फॉर्मेट में खेलने के लिए केवल टी20I, IPL और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी है। फिर भी, कुछ भारतीय इस फॉर्मेट में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं।

Advertisement

टी20 क्रिकेट से जुड़े इस शानदार नोट पर बात करते हुए, आज के इस लेख में हम, उन तीन भारतीय तेज गेंदबाजों की सूची पर एक नज़र डालते हैं, जिन्होंने अब तक 200 से अधिक टी 20 विकेट हासिल किए हैं।

Advertisement

नोट: आंकड़े 18 मई 2022 तक के हैं:-

1) जसप्रीत बुमराह – 250 विकेट:

मैच: 206 || औसत: 21.63 || इकॉनमी: 7.03

Advertisement

जसप्रीत बुमराह इस समय टी20 फॉर्मेट में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं। उनके पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 67 विकेट हैं, जो युजवेंद्र चहल से सिर्फ एक कम है। चहल टी20I में 68 विकेट के साथ टॉप पर हैं। हालांकि, आईपीएल में, मुंबई इंडियंस की ओर से खेलने वाले बुमराह के पास आईपीएल में 142 विकेट हैं।

बुमराह ने एक टी20 विशेषज्ञ तेज गेंदबाज रूप में शुरुआत की थी। लेकिन, फिर वह धीरे धीरे भारत के लिए एक सफल ऑल-फॉर्मेट गेंदबाज बन गए हैं। और अब, टीम इंडिया का कोई भी दौरा बुमराह के बिना पूरा नहीं हो रहा है।

Advertisement

2) भुवनेश्वर कुमार – 224 विकेट:

मैच: 220 || औसत: 25.19 || इकॉनमी: 7.17

अब तक 200 से ज्यादा टी20 विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाजों की इस लिस्ट में भुवनेश्वर कुमार दूसरे नंबर पर हैं। आईपीएल में ही 154 विकेट के साथ भुवी पिछले कुछ समय से भारतीय टी20 टीम का लगातार हिस्सा रहे हैं।

Advertisement

एक दौर था जब भुवी चोटों और खराब फॉर्म से जूझ रहे थे।हालांकि, अब वह इन सबसे आगे बढ़ चुके हैं और अब वह टीम इंडिया का अभिन्न हिस्सा हैं। भुवनेश्वर के लिए सबसे बड़ी सफलता खुद को पावरप्ले के तेज गेंदबाज से ऑल-फेज गेंदबाज में बदलना है।

3) जयदेव उनादकट – 201 विकेट:

मैच: 163 || औसत: 23.21 || इकॉनमी: 8

Advertisement

जयदेव उनादकट ने भारत के लिए केवल 10 टी20 मैच खेले हैं और आईपीएल में भी, हाल के सीज़न में ही वह लगातार प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं रहे हैं। इसलिए, यह आश्चर्य की बात है कि वह इस सूची का हिस्सा हैं। वास्तव में, उनादकट इस सूची का हिस्सा इसलिए हैं क्योंकि इन्होंने घरेलू क्रिकेट में शानदार गेंदबाजी की है और लगातार विकेट झटकते रहे हैं।

हालांकि टीम इंडिया में उनादकट की वापसी बेहद मुश्किल है। खासतौर से टी20 फॉर्मेट में, क्योंकि हाल के दिनों में बाएं हाथ के कई युवा तेज गेंदबाज बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे हैं। इसलिए, जयदेव उनादकट यदि टीम इंडिया में जगह बनाना चाहते हैं तो उन्हें अविश्वसनीय प्रदर्शन करना होगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button