FeatureIPL

महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा के करियर के 5 बड़े संयोग

Share The Post

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से हैं। इन दोनों ही बल्लेबाजों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर से लेकर आईपीएल तक अपनी बड़ी हिटिंग के बल पर खूब नाम कमाया है। के बल पर खूब नाम कमाया है।

रोहित शर्मा ने जहाँ पांच आईपीएल खिताब अपने नाम किए हैं। वहीं, महेन्द्र सिंह धोनी ने तीन बार आईपीएल खिताब पर कब्जा किया है। महेन्द्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा ने भारतीय क्रिकेट टीम और आईपीएल में अपनी फ्रेंचाइजी के लिए सफलता की नई इबारत लिखी है।

चूंकि, धोनी और रोहित दोनों ही अविश्वसनीय रूप से सफल रहे हैं। इसलिए इन दोनों के क्रिकेट करियर में कुछ अजब-गजब संयोग भी हुए हैं। आइये एक नजर डालते हैं, इन दोनों के जीवन में कुछ विशेष संयोगों पर…

Advertisement

5.) लगातार दो आईपीएल में जीत

आईपीएल के 13 वर्षों के इतिहास में धोनी और रोहित ने कुल मिलाकर 8 बार आईपीएल खिताब में कब्जा किया है। हालांकि, इसमें सबसे अधिक दिलचस्प यह है कि बीते 13 वर्षों में मुंबई और चेन्नई के अलावा कोई अन्य फ्रेंचाइजी लगातार दो बार आईपीएल का खिताब अपने नाम नही कर सकी है।

महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में चेन्नई सुपरकिंग्स ने लगातार दो वर्षों साल 2010 और 2011 में आईपीएल खिताब पर अपना कब्जा जमाया था। जबकि रोहित शर्मा के नेतृत्व में खेलते हुए, मुंबई इंडियंस ने 2019 और 2020 में आईपीएल ट्राफी हासिल की थी।

4.) आईपीएल में 200+ छक्के

इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास में केवल तीन भारतीय बल्लेबाज 200 या अधिक छक्के लगाने में सफल रहे हैं।एमएस धोनी यह रिकॉर्ड हासिल करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे।

Advertisement

रोहित शर्मा ने धोनी के नक्शे-कदम पर चलते हुए अपने आईपीएल करियर में अब तक 225 छक्के लगाए हैं। उल्लेखनीय है कि आईपीएल में छक्के लगाने के मामले में रोहित अब धोनी से आगे निकल चुके हैं। क्योंकि आईपीएल में धोनी के नाम 218 शतक हैं।

3.) 200 आईपीएल मैच

महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा अपने करियर में 200 आईपीएल मैच खेलने वाले क्रिकेटर हैं। दोनों बल्लेबाजों ने साल 2008 में लीग में इस लीग में खेलना शुरू किया था।

धोनी अब तक 215 आईपीएल मैच खेल चुके हैं, जबकि रोहित 210 मैच खेल चुके हैं। हालांकि इन दोनों के अलावा, विराट कोहली और सुरेश रैना भी आईपीएल में 200 मैच खेल चुके हैं। लेकिन धोनी और रोहित आईपीएल में 200 मैच खेलने वाले क्रमशः पहले और दूसरे खिलाड़ी हैं।

Advertisement

2.) महाराष्ट्र की एक टीम और दक्षिण भारत की एक टीम के लिए खेला गया

एमएस धोनी और रोहित शर्मा की आईपीएल यात्रा के बीच एक और चौंकाने वाला संयोग है। यह संयोग उन टीमों से जुड़ा है जिनका इन दोनों खिलाड़ियों ने प्रतिनिधित्व किया है।

दरअसल, रोहित शर्मा ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत डेक्कन चार्जर्स से की थी। लेकिन, 2011 की मेगा नीलामी से पहले डीसी ने उन्हें रिहा कर दिया और मुंबई इंडियंस ने उन्हें साइन कर लिया।

एमएस धोनी 2008 से चेन्नई सुपर किंग्स टीम का चेहरा रहे हैं। जब सीएसके को 2016 और 2017 में निलंबित कर दिया गया। तब, धोनी राइजिंग पुणे सुपरजायंट टीम के लिए खेले। इस प्रकार, ये दोनों दिग्गज महाराष्ट्र की एक टीम और दक्षिण भारत की एक टीम के लिए खेल चुके हैं।

Advertisement

1.) फाइनल में स्कोर का पीछा और बचाव करते हुए आईपीएल जीतने वाले कप्तान

आईपीएल फाइनल मैच खेलने के दौरान खिलाड़ी काफी दबाव में होते हैं। शांत और चातुर्य मानसिकता वाले खिलाड़ी ही उस स्थिति में सफल हो सकते हैं। आईपीएल खिताब जीतने के लिए किस प्रकार का संघर्ष किया जाता है, यह हर कोई जानता है।

धोनी और रोहित की महानता और क्रिकेट के प्रति लगाव को इस प्रकार भी देखा जा सकता है। क्रिकेट के ये दोनों ही दिग्गज आईपीएल में स्कोर का पीछा करते हुए और बचाव करते हुए आईपीएल जीतने वाले कप्तान हैं।

उल्लेखनीय है कि, एक से अधिक बार आईपीएल खिताब जीतने वाले कप्तानों की सूची में कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर का नाम शामिल है। किन्तु उन्होंने साल 2012 और 2014 में आईपीएल खिताब अपने नाम किया था। इन दोनों ही खिताबी मुक़ाबले में केकेआर स्कोर का पीछा कर रही थी।

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button