NewsSocial

मांकडिंग नियम में हुए बदलाव को लेकर स्टुअर्ट ब्रॉड ने जताई नाराजगी

Share The Post

बुधवार 9 मार्च को क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब एमसीसी ने कुछ नियमों में बदलाव का ऐलान कर दिया था। इसमें एक खास बदलाव उस नियम में भी देखने को मिला है लेकिन उस नियम का पालन करने पर अक्सर विवाद हो जाता है। ये नियम नॉन-स्ट्राइकर पर खड़े बल्लेबाज को गेंदबाज द्वारा रन आउट करना है।

इस नियम को 8 मार्च 2021 तक मांकडिंग के नाम से जानते थे लेकिन अब इसको रन आउट के रूप में जाना जाएगा। एमसीसी ने इस नियम में बदलाव करते हुए इसको हरी झंडी दे दी है। एमसीसी के द्वारा लिए गए इस फैसले की हर जगह तारीफ हो रही है लेकिन इंग्लैंड के दिग्गज तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड इस बदलाव को सही नहीं मानते है।

अब मांकडिंग रन आउट के नाम से जाना जाएगा और यह नियम 1 अक्टूबर से लागू होगा। इस फैसले से भारतीय खिलाड़ीऔर भारतीय फैंस काफी खुश है क्योंकि मांकडिंग नाम महान भारतीय ऑलराउंडर वीनू मांकड के नाम पर ही रखा गया था। वीनू मांकड ने 1948 में सबसे पहले ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बिल ब्राउन को इस तरह से आउट करके दिखाया था। उसके बाद से जब भी किसी गेंदबाज ने मांकडिंग का इस्तेमाल किया है तो इसे खेल भावना के विरुद्ध मानते थे। दिग्गज भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन सहित कई खिलाड़ी इस तरीके को सही मानते है।

Advertisement

ब्रॉड ने इस नियम को बताया गलत

हालांकि इस फैसले से इंग्लैंड के दिग्गज तेज गेंदबाज ब्रॉड खुश नहीं है उन्होंने इस नियम को गलत बताया है। उनका कहना है कि बाकी तरह से आउट किए जाने की तुलना में इसमें किसी तरह के स्किल्स की जरूरत नहीं पड़ेगी।

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, तो मांकड़ अब अनफेयर) नहीं रहा और आउट करने का यह तरीका वैध बन चुका हैं। क्या यह हमेशा से आउट करने का वैध तरीका नहीं था और इसका गलत होना सब्जेक्टिव नहीं था? मेरा मानना है कि यह गलत है और मैं इसको सही नहीं मानता हूँ। बल्लेबाज को आउट करने के लिये स्किल की जरूरत होनी चाहिए और मांकड़ के लिये किसी तरह की स्किल्स की जरुरत नहीं होती।”

मांकडिंग का किस्सा आईपीएल 2019 में तब देखने को मिला था जब रविचंद्रन अश्विन ने जोस बटलर को मांकडिंग कर दिया था। रविचंद्रन अश्विन उस वक्त पंजाब किंग्स का हिस्सा थे और बटलर राजस्थान रॉयल्स की टीम में शामिल थे। इसके बाद अश्विन की काफी आलोचना हुई थी। जबकि, कुछ फैंस ने क्रिकेट के नियमों के तहत बताते हुए उनकी तारीफ भी की थी।

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button