News

2 दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी जो करियर के बड़े मुकाम छूने से एक कदम पहले ही रिटायर हो गए

Share The Post

एक खिलाड़ी के जीवन में खेल का महत्व, इसी बात से समझा जा सकता है कि अगर उस खिलाड़ी से उसका खेल छीन लिया जाए तो उसका अस्तित्व ख़तरे में पड़ जाएगा और रही बात खेल की, तो, किसी भी खेल की कल्पना उसे खेलने वाले के बिना की ही नहीं जा सकती। खेल चाहे जो भी हो, एक खिलाड़ी हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देने की ही कोशिश करता है, पर यक़ीन मानिए, जब वो उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाता तो सबसे बड़ा आघात उसी को पहुंचता है।

Advertisement

आज हम बात करने जा रहे हैं दक्षिण अफ्रीका के दो पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मार्क बाउचर और डेल स्टेन की, जो निजी तौर बड़ी उपलब्धियों को हासिल करने से पहले ही रिटायर हो गए।

Advertisement

जानिये कौन सी बड़ी उपलब्धियां थी, जो ये दो दिग्गज खिलाड़ी हासिल कर सकते थे

1. मार्क बाउचर – 999 अंतरराष्ट्रीय कैच + स्टंपिंग

टेस्ट-147 | शिकार -555 || वनडे-295 | शिकार -425 || T20Is-25 | शिकार -19

मार्क बाउचर का नाम, दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपरों की सूची में नंबर एक पर आता है। आए भी क्यों ना, इस दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ने विकेट के पीछे रहकर, इतने बल्लेबाजों का शिकार किया है कि हर क्रिकेट प्रेमी इनके कारनामों से भली-भांति परिचित है। हालांकि इस दिग्गज का करियर समय से पहले ही समाप्त हुआ। 2012 में इमरान ताहिर की गेंद पर विकेटकीपिंग करते समय विकेट के पीछे खड़े बाउचर की आंख में बेल लग गयी।

Advertisement

उस चोट के कारण वो मैच उनका आखिरी मैच साबित हुआ और सिर्फ़ 36 साल की उम्र में उन्हें क्रिकेट जगत से संन्यास लेना पड़ा। अगर वो थोड़ा और खेलते तो विकेट के पीछे से किए 999 शिकार को 1000 के खास आंकड़े तब्दील कर लेते और ऐसा करने वाले वो पहले विकेटकीपर होते।

2. डेल स्टेन: 699 अंतरराष्ट्रीय विकेट

टेस्ट-93 | विकेट-439 || वनडे-125 | विकेट-196 || T20Is-47 | विकेट-64

Advertisement

डेल स्टेन के नाम का खौफ़, उनके गेंदों का सामना करने वाले बल्लेबाज़ों में साफ दिखाई देता था। इसके अलावा डेल स्टेन आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में 2343 दिन बतौर नंबर एक गेंदबाज रहकर एक बड़ी उपलब्धि हासिल की।

क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ों में से एक, डेल स्टेन के नाम कुल 699 अंतराष्ट्रीय विकेट दर्ज हैं और उन्हें 700 विकेट के आंकड़े को हासिल करने के लिए महज एक विकेट की जरूरत थी। हालांकि इस दिग्गज ने गेंदबाज ने पहले ही संन्यास की घोषणा कर दी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Abhay Singh

क्रिकेट का प्रशंसक हूं और अपने इसी शौक की वजह से मैं क्रिकेट लेखन के क्षेत्र में भी सक्रिय हूं।

Related Articles

Back to top button