FeatureStats

वो 4 भारतीय बल्लेबाज जिन्हें ओपनिंग का मौका मिलता तो बना सकते थे कई बड़े रिकॉर्ड

Share The Post

[vc_row][vc_column][vc_column_text]

क्रिकेट इतिहास में अब तक कई दिग्गज बल्लेबाज रहे हैं। जिसमें, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, मैथ्यू हेडन, ग्रीम स्मिथ ये सभी प्लेयर्स क्रिकेट इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से हैं। किसी भी प्लेयर के लिए ओपनिंग करने के एक अलग मायने होते हैं।

यह देखने में सामने आता है कि ओपनर बल्लेबाजों के पास रन बनाने के अधिक मौके होते हैं। क्योंकि, मिडिल आर्डर या लोवर मिडिल आर्डर के बल्लेबाजों को अपेक्षाकृत कम बैटिंग करने का ही मौका होता है। यह कहना गलत नहीं होगा कि, यदि रोहित शर्मा और वीरेंद्र सहवाग ओपनिंग का मौका नहीं मिला होता तो शायद वे आज इतने बड़े बल्लेबाज नहीं होते।

Advertisement

इस शानदार नोट पर आगे बढ़ते हुए, आज के इस लेख में हम एक नजर डालते हैं भारत के 4 बल्लेबाजों पर जिन्हें यदि बैटिंग आर्डर में टॉप पर यानी कि ओपनिंग करने का मौका मिला होता तो शायद वे बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम कर चुके होते।

4.) सुरेश रैना:

आईपीएल इतिहास में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में से एक सुरेश रैना मध्यक्रम के जबरदस्त बल्लेबाज थे। उन्होंने मिडिल आर्डर में बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया के लिए कई बेहतरीन पारियां खेलीं हैं। सुरेश रैना के वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने कुल 226 वनडे मैच खेले हैं। जिसमें, उन्होंने 5 शतक और 36 अर्धशतक के साथ कुल 5615 रन बनाए हैं।

वास्तव में, सुरेश रैना के बल्लेबाजी आंकड़ों को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि यदि रैना को टीम इंडिया में ओपनिंग करने मौका मिला होता तो निश्चित ही उनके बल्लेबाजी आंकड़े कुछ और बयान कर रहे होते। और, वह कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते थे।

Advertisement

3.) अंबाती रायुडू:

अंबाती रायडू बेहद प्रतिभावान बल्लेबाज रहे हैं। हालांकि, उन्हें उस हिसाब से टीम इंडिया के लिए मौके नहीं दिए गए हैं। अंबाती रायडू जिस तरह के बल्लेबाज हैं यदि उन्हें टीम इंडिया के लिए ओपनिंग करने का मौका मिला होता तो वह कई बड़ी परियाँ खेल सकते थे।

आईपीएल 2018 के दौरान जब उन्हें फ्रेंचाइजी की ओर से लगातार ओपनिंग करने का मौका मिल रहा था। तब,  उन्होंने कई बड़ी पारियाँ खेलकर यह दिखाया भी है कि उनमें टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी करने की क्षमता है। इसके अलावा भारतीय क्रिकेट टीम में उन्हें सिर्फ एक बार ओपनिंग करने का मौका मिला था। इस मैच में उन्होंने 57 रनों की शानदार पारी खेली थी।

2.) युवराज सिंह:

सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज सिंह जब फॉर्म में होते तो उनका बल्ला जमकर रन उगल रहा होता था। वह अपने समय के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। यही कारण है कि, जब मिडिल ऑर्डर में बैटिंग की बात आती है तो युवराज सिंह का नाम जरुर लिया जाता है।

Advertisement

युवराज के वनडे करियर केआंकड़ों पर नजर डालें तो उन्होंने 304 वनडे मैचों में 8701 रन बनाए हैं। वह भी तब जबकि उन्हें मिडिल आर्डर में बल्लेबाजी करने का मौका दिया गया था। इसलिए, यदि युवराज को ओपनिंग करने का मौका मिलता तो वह एक सफल विस्फोटक ओपनर के रूप में सामने होते।

1.) महेंद्र सिंह धोनी:

कैप्टन कूल के नाम से मशहूर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और ऑल टाइम बेस्ट फिनिशर में से एक महेंद्र सिंह धोनी का भारतीय क्रिकेट में जो योगदान है उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। टीम इंडिया को टी20 विश्वकप, वनडे विश्वकप, चैंपियंस ट्रॉफी, एशिया कप से लेकर दुनिया भर में कई सीरीज जितवाने वाले धोनी को भी टॉप आर्डर में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिल सका था।

बेशक, यह कहा जा सकता है कि वह कप्तान थे तो टीम इंडिया के लिए ओपनिंग कर सकते थे। लेकिन, उन्होंने शुरुआती दौर में कई मैच बिना कप्तान भी खेले हैं। और, जब वह कप्तान थे तब भी टीम इंडिया के पास बेहतरीन ओपनर थे। इसलिए, उन्हें उस क्रम में बल्लेबाजी करने का ज्यादा मौका नहीं मिला।

Advertisement

बहुत कम क्रिकेट फैंस ये जानते होंगे कि धोनी के दो बार टीम इंडिया के लिए ओपनिंग भी की है। इस दौरान उन्होंने एक अर्धशतक समेत कुल 98 रन बनाए हैं। इसलिए यह कहा जाना चाहिए कि यदि उन्हें ओपनिंग करने के पर्याप्त मौके मिलते तो निश्चित ही कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते थे।

[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button