News

वेस्टइंडीज बनाम भारत: आकाश चोपड़ा ने भारतीय टीम मैनेजमेंट से ऑलराउंडरों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने की गुजारिश की

Share The Post

दीपक हुड्डा ने रविवार 6 फरवरी को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले वनडे मैच में डेब्यू किया लेकिन इस मैच में उन्हें गेंदबाजी करने का मौका नहीं दिया गया था। उनको गेंदबाजी ना देने पर पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भारतीय टीम मैनेजमेंट पर अपनी नाराजगी जाहिर की है।

हुड्डा ने बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 32 गेंदों में दो चौकों की मदद से नाबाद 26 रन की पारी खेली। उन्होंने सूर्यकुमार यादव के साथ चौथे विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी भी निभाई। इसी वजह से भारत ने 28 ओवरों में 132 गेंद शेष रहते 177 रनों के लक्ष्य को 4 विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया। वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले वनडे मैच में हुड्डा को गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिला। हुड्डा एक अच्छे ऑफ-ब्रेक गेंदबाज हैं, जिन्होंने सभी प्रारूपों को मिलाकर 72 विकेट चटकाए है। अहमदाबाद की पिच स्पिनरों को काफी मदद मिल रही थी। ऐसे में उनको गेंदबाजी ना कराना हैरानी भरा फैसला था।

इस मैच में युजवेंद्र चहल ने चार विकेट लिए थे। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का अवार्ड दिया गया था। उनके अलावा लंबे समय बाद टीम में वापसी कर रहे वाशिंगटन सुंदर ने भी 3 विकेट हासिल किये। इस बीच, चोपड़ा ने भारतीय टीम मैनेजमेंट से अपने ऑलराउंडरों का ज्यादा इस्तेमाल करने की गुजारिश की।

Advertisement

आकाश चोपड़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “पहले वेंकटेश अय्यर और अब दीपक हुड्डा। अगर उन्हें गेंदबाजी नहीं मिल रही है तो ऑलराउंडर बनाना बहुत मुश्किल है। या ऐसा भी हो सकता है कि चयनकर्ता उनको ऑलराउंडर के रूप में चुनते हैं लेकिन टीम मैनेजमेंट को उनकी गेंदबाजी क्षमता पर भरोसा नहीं है।”

आकाश चोपड़ा का ट्वीट यहाँ देखें

हुड्डा को इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने का काफी अनुभव है। वह सनराइजर्स हैदराबाद, राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स की ओर से खेल चुके हैं और मिडिल आर्डर में उन्होंने बल्लेबाजी करते समय कुछ बेहतरीन पारियां खेली है। पिछले सीजन में वह पंजाब के लिए केएल राहुल की कप्तानी में खेलते हुए नजर आये थे। वह अब 12 और 13 फरवरी को होने वाली आईपीएल मेगा नीलामी में हिस्सा लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

वेस्टइंडीज के खिलाफ ​​रविवार को हुए मैच में भारत ने चार विकेट से जीत हासिल करते हुए तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की अहम बढ़त बना ली है। रोहित शर्मा ने लंबे समय के बाद हैमस्ट्रिंग की चोट से उबरते हुए भारत के फुल टाइम वनडे कप्तान के रूप में कार्यभार संभाला और बल्लेबाजी की शुरुआत करते हुए एक अर्धशतक भी लगाया।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Related Articles

Back to top button