News

‘रोहित शर्मा के लिए होगी करो या मरो की स्थिति’ – संजय मांजरेकर

Share The Post

भारत बनाम इंग्लैंड (IND vs ENG) टेस्ट सीरीज बुधवार (4 अगस्त) से शुरू होने वाली है और इस सीरीज पर सभी की नजरें टिकी हुयी हैं। इंग्लैंड दौरा कई खिलाड़ियों के लिए बहुत ही अहम है और इनमें रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का नाम भी शामिल है। सीरीज शुरू होने से रोहित शर्मा को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है और इस सीरीज को रोहित के लिए करो या मरो वाली सीरीज बताया है।

रोहित ने 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और सात शतकों और 12 अर्धशतकों के साथ 46.18 का औसत रहा है। रोहित शर्मा को शुरू में इस प्रारूप में उतनी सफलता नहीं मिली लेकिन ओपनर बनने के बाद अन्य प्रारूपों की तरह टेस्ट में भी उन्होंने अपने आप को साबित किया है। हालांकि अभी तक विदेशों में उनके बल्ले से बड़ी पारी नहीं आयी है।

संजय मांजरेकर ने हिंदुस्तान टाइम्स में लिखे अपने कॉलम में कहा कि रोहित शर्मा को इंग्लैंड के खिलाफ अच्छा करना होगा। अगर वह ऐसा नहीं कर पाते हैं तो भारत को टेस्ट में दूसरे विकल्प देखना शुरू करना चाहिए।

Advertisement

“यह (रोहित) शर्मा में टेस्ट बल्लेबाज के लिए एक मेक-या-ब्रेक श्रृंखला है, क्योंकि टेस्ट टीम में होने के लिए 34 वर्ष की आयु में 40 से अधिक टेस्ट वाले बल्लेबाज के टेस्ट टीम में होने का कोई मतलब नहीं है अगर वह केवल भारत में ही आपको बड़ा स्कोर बनाकर दे सकता है।”

बतौर ओपनर शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं रोहित शर्मा

संजय मांजरेकर ने रोहित शर्मा के प्रदर्शन पर जो सवाल उठाये हैं, उसके पीछे रोहित का घर और विदेशों में बल्लेबाजी औसत में काफी अंतर होना है। रोहित ने घर पर लगभग 80 की औसत से टेस्ट में रन बनाये हैं लेकिन विदेशों में उनका औसत 28 से भी कम का है। हालांकि रोहित ने जब से ओपनिंग शुरू की है, उन्होंने विदेशों में भी रन बनाये हैं

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर रोहित ने टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई थी तथा वो बहुत ही सहज नजर आये थे। रोहित ने अब तक बतौर ओपनर 19 पारियां खेली हैं और इस दौरान 60.78 की औसत से 1094 रन बनाये हैं। इंग्लैंड के खिलाफ भारत की सीरीज जीत काफी हद तक रोहित के प्रदर्शन पर निर्भर करेगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement


Share The Post

Abhay Singh

क्रिकेट का प्रशंसक हूं और अपने इसी शौक की वजह से मैं क्रिकेट लेखन के क्षेत्र में भी सक्रिय हूं।

Related Articles

Back to top button