Feature

5 आरसीबी के पूर्व खिलाड़ी जिन्होंने एमएस धोनी की टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया

Share The Post

आईपीएल दुनिया की सबसे बहुचर्चित लीग में से एक बन चुका है। इतने सालों में इस टूर्नामेंट ने बड़ा नाम कमाया है और भारतीय टीम को कई मैच विजेता खिलाड़ी प्रदान किए हैं। उनमें से कई टैलेंट ऐसे हैं जो महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की टीम से आए हैं। आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी की टीम के लिए कई खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन किया और उसी में से एक आरसीबी की टीम भी है।

आईपीएल के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी अपने करियर के दौरान दो टीमों का हिस्सा बने हैं। चेन्नई सुपर किंग्स को जब 2 साल के निलंबन से गुजारना पड़ा था तब धोनी राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का हिस्सा बने थे जहां उन्होंने कई युवा खिलाड़ियों के साथ समय बिताया।

यह भी पढ़ें: टी20 विश्वकप इतिहास के टॉप 4 गेंदबाजी प्रदर्शन

Advertisement

विराट कोहली की आरसीबी टूर्नामेंट की सबसे प्रसिद्ध टीमों में से एक है, आज हम बात करेंगे ऐसे पांच खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने आरसीबी को छोड़ने के बाद धोनी की टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया-

5 खिलाड़ी जिन्होंने आरसीबी को छोड़ने के बाद एमएस धोनी की टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया

5. मोईन अली

इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में खुद को साबित करने के निरंतर मौके नहीं मिले और आरसीबी ने उन्हें 2021 के ऑक्शन के पहले रिलीज करने का फैसला लिया।

अली को फिर ऑप्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने बड़ी धनराशि में अपनी टीम के साथ जोड़ा और आईपीएल 2021 के सात मुकाबलों में मोईन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के साथ-साथ बढ़िया गेंदबाजी भी की और सीएसके के लिए तुरुप का इक्का साबित हुए। आरसीबी को मोईन अली के जाने का बेहद दुख होगा।

Advertisement

4. शेन वॉटसन

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज ऑलराउंडर शेन वॉटसन 2008 से 2015 के दौरान राजस्थान रॉयल्स का महत्वपूर्ण हिस्सा थे। हालांकि राजस्थान के 2 साल के निलंबन के दौरान वह आरसीबी का हिस्सा बने।

आरसीबी के लिए खेलते हुए उन्होंने 2 सीजन में 300 से भी कम रन बनाएं और गेंदबाजी में भी कुछ खास प्रभावित न कर सके। मगर 2018 में सीएसके में जाते ही उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और उस साल जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए 555 रन बनाए जिसमें फाइनल मुकाबले में उनके द्वारा लगाया गया शतक भी शामिल है।

3. कर्ण शर्मा

बहुत ही कम लोग यह बात जानते होंगे कि करण शर्मा ने अपना आईपीएल पदार्पण रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए किया था जहां उन्हें केवल एक मुकाबला खेलने का मौका मिला। उस मुकाबले में उन्हें गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिला और बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने मात्र 1 रन बनाए।

Advertisement

सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस के लिए बढ़िया प्रदर्शन करने के बाद करण शर्मा को चेन्नई सुपर किंग्स ने अपनी टीम में शामिल किया और 2018 में खेले गए 12 मुकाबलों में उन्होंने 10 विकेट अपने नाम किए और चेन्नई को खिताब जिताने में भी भूमिका अदा की।

2. अशोक डिंडा ने भी आरसीबी से रिलीज के बाद महेंद्र सिंह धोनी की टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्दशन किया 

अशोक डिंडा को महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में खेलने का मौका आईपीएल 2016 के दौरान मिला जब उन्हें ऑक्शन के दौरान राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने अपनी टीम के साथ जोड़ा।

दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने आरसीबी के लिए 2 सीजन खेले थे जहां उन्होंने मात्र 5 विकेट झटके और उनका इकॉनमी 9.22 का था। मगर पुणे में आने के बाद उनका इकॉनमी घटकर 8.4 का हो गया और उन्होंने टीम के लिए कई मेडन ओवर भी डालें। डिंडा ने धोनी की कप्तानी में 12 मुकाबलों में 12 विकेट झटके।

Advertisement

1-जयदेव उनादकट

हालांकि 2017 में महेंद्र सिंह धोनी राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के कप्तान नहीं थे मगर उस साल जयदेव उनादकट ने शानदार गेंदबाजी की और पर्पल कैप के दावेदारों में से एक रहे।

उनादकट ने मात्र 12 मुकाबलों में 24 विकेट झटके और टीम को फाइनल में ले जाने में भूमिका अदा की। जब उनादकट रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का हिस्सा थे तब उन्होंने 13 मुकाबलों में मात्र 13 विकेट झटके थे और उनका इकॉनमी भी इस दौरान काफी अधिक था।

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Share The Post

Related Articles

Back to top button